सभी लेखों पर वापस जाओ

डेंगी और चिकनगुनिया का अगला शिकार आप भी हो सकते हैं! क्या आप तैयार हैं?

हाल ही में देश की राजधानी दिल्ली में डेंगी और चिकनगुनिया जैसी मच्छरों से होने वाली बिमारियों में खतरनाक इज़ाफा हुआ है। इस गंभीर समस्या ने सभी को सतर्क होने पर मजबूर कर दिया है । शहर में घातक डेंगी का खतरा तेज़ गति से बढ़ रहा है और चिकनगुनिया भी पीछे नहीं है। नेशनल वेक्टर बोर्न डिसीज़ कंट्रोल प्रोगाम (NVBDCP) निदेशालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, सिर्फ 2016 में दिल्ली में डेंगी के 4393 मामले सामने आए, जिसमें 10 लोगों की मौत हुई। उसी अवधि में करीब 12,221 लोग चिकनगुनिया के भी शिकार बने। दुर्भाग्य से 2017 में भी हालात बहुत अच्छे नजर नहीं आ रहे, पिछले 3 महीने में चिकनगुनिया और डेंगी के ढेरों मामले सामने आए हैं; और यह तो साल की शुरुआत ही है!

कैसे होती हैं यह दो घातक बिमारियां?

डेंगी और चिकनगुनिया एडीस इजिप्टी और एडीस अल्बोपिक्टस मच्छर के काटने से होता है। मच्छर की ये दोनों प्रजातियां अन्य मच्छरों की तरह ही घर के कोने और आसपास के परिवेश में पनपते हैं। पानी के स्टोरेज टैंक, फूलों के गुलदस्ते, नाले और प्लास्टिक के कंटेनर जैसे अंधेरे व गीले स्थानों में यह मच्छर बढ़ते हैं। इन जगहों पर बारिश के मौसम में पानी इकट्ठा हो जाता है, जिससे मच्छर और तेज़ी से फैलने लगते हैं। पर यह मच्छर सिर्फ़ बारिश में ही नहीं पनपते, बल्कि अनुकूल माहौल मिलने पर पूरे साल प्रजनन करते हैं।

इस खतरे से बचने के क्या हैं उपाय?

जहां दिल्ली सरकार ने कई जागरुकता कार्यक्रमों के जरिये लोगों को इस साइलेंट किलर के बारे जागरूक करने की कोशिश की है, वहीं यह लोगों की भी ज़िम्मेदारी बनती है कि खुद से भी थोड़ी कोशिश करें। बारिश के मौसम में अतिरिक्त एहतियात बरतें - जैसे गीले व अंधेरे स्थानों को साफ व सूखा रखें, इससे मच्छरों को दूर रखने में मदद मिलगी। एडीस इजिप्टी मच्छर दिन के समय ज़्यादा सक्रिय रहते हैं, इसलिए ढीले-ढाले व पूरे बदन को ढंककर रखने वाले कपड़े पहनने की सलाह दी जाती है। रात को सोते समय मच्छरदानी का इस्तेमाल करना भी अच्छा है। साथ ही हर उम्र के लोगों को दिन और रात के समय मच्छरों को दूर रखने वाले जेल, स्प्रे और पैचेस के इस्तेमाल की भी सलाह दी जाती है।

पेश है सभी समस्याओं का एकमात्र समाधान

ऊपर बताये गए सभी उपाय आपको मच्छरों से बचाते हैं। लेकिन यह सुनिश्चित करना भी ज़रूरी है कि मच्छरों के प्रजनन के लिए उपयुक्त स्थान न रहे। सरल शब्दों में कहे तो, अपने घर और आसपास की जगहें कीटाणुमुक्त और साफ रखने के साथ ही, आपको ज़रूरत है Kala HIT जैसे एक ऐसे समर्पित योद्धा कि जो एक झटके में घर के सारे मच्छरों को मार डालता है। याद रखिए, खतरनाक मच्छर हर कोने में छिपे होते हैं और उन्हें बाहर निकालने का असरदार तरीक़ा है, अंधेरे स्थानों पर Kala HIT का बिना भूले, रोज़ाना छिड़काव।

Kala HIT आसानी से उन मुश्किल कोनों में गहराई तक पहुंचता है और इसका इंस्टेंट ड्रॉप-डेड एक्शन एक झटके में करता है खतरनाक मच्छरों का सफाया। जिससे आपका घर और आसापास के स्थान बनते हैं रोग मुक्त। यह डेंगी और चिकनगुनिया जैसी जानलेवा बिमारियों से लड़ाई में आपकी जीत सुनिश्चित करता है।

तो याद रखिये, घर के हर कोने और आसपास के परिवेश पर तुरंत ध्यान देने की ज़रूरत है। इसके लिए Kala HIT से बेहतर शुरुआत नहीं हो सकती। गहराई तक पहुंचने की शक्ति सिर्फ Kala HIT में मिलेगी। इससे आपके घर के सबसे प्रभावशाली रक्षक के सामने जिद्दी मच्छरों की भी एक ना चले। इस सीज़न अपने भरोसेमंद साथी Kala HIT के साथ करें जंग का ऐलान और मच्छरों और बिमारियों का सफाया कीजिये ।

संबंधित उत्पादों का पता लगाएं

सही तरीके से

अपने घर को कीडों से मुक्त रखने की युक्तियां और तरीकें!

  • डेंगी
  • चिकुनगुनिया
  • मासिक रसोई की सफाई
  • कॉकरोच
  • मलेरिया